Covid-19 special आयोजन दतिया मध्य प्रदेश

कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्स फाउंडेशन के कोविड केयर किट वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ केन्द्रीय मंत्री खटीक ने किया

केंद्रीय सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ.वीरेंद्र कुमार ने किया कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्स फाउंडेशन के कोविड केयर किट वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ
 
 
दातिया/ निवाड़ी @RBNewsindia.com>>>>>>>>>>>>>>>>>> नोबेल शांति पुरस्‍कार से सम्‍मानित श्री कैलाश सत्‍यार्थी द्वारा स्‍थापित कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्स फाउंडेशन (केएससीएफ) कोविड-19 की पहली लहर से लेकर अब तक देश के विभिन्‍न भागों में बच्‍चों और अन्‍य लोगों को राहत पहुंचाने के काम में पूरी तत्‍परता से जुटा हुआ है।

इसी सिलसिले में फाउंडेशन आज से मध्य प्रदेश में कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से बच्‍चों को बचाने के लिए बडे पैमाने पर “कोविड केयर किट” का वितरण शुरु करने जा रहा है। निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर में आयोजित एक समारोह में केंद्रीय सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार खटीक ने “कोविड केयर किट” वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में निवाड़ी के अतिरक्त जिलाधिकारी भी मौजूद थे।

“कोविड केयर किट” वितरण कार्यक्रम का आयोजन जिला प्रशासन और कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस अवसर पर नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी ने एक ऑडियो संदेश के जरिए बुंदेलखंडी में सभी से कोविड से बचाव के सुरक्षा नियम अपनाने और बच्चों को शोषण मुक्त कर उनके बचपन को सुरक्षित और शिक्षित बनाने की अपील भी की। उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश कैलाश सत्‍यार्थी का गृह प्रदेश भी है, जिससे उनका गहरा लगाव है।    
 
कोविड की पहली और दूसरी लहर में मेडिकल संसाधनों और दवाइयों के अभाव से तमाम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। ऑक्सीजन की कमी की वजह से अनेक लोगों की जान भी चली गई। तीसरी लहर में आशंका जाहिर की जा रही है कि यह महामारी बड़े पैमाने पर बच्चों को प्रभावित करेगी। इसी के मद्देनजर कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्स फाउंडेशन कोविड की संभावित तीसरी लहर से बच्‍चों को बचाने के लिए एक बार फिर से देशभर में सक्रिय हो गया है। इस सिलसिले में उसने मध्‍य प्रदेश के 8 जिला अस्‍पतालों, 114 चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूशन और 250 पंचायतों में “कोविड केयर किट” का वितरण शुरू कर दिया है। जिसका शुभारंभ आज हुआ।
 
इस अवसर पर कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन के कार्यों की प्रशंसा करते हुए केंद्रीय सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. वीरेंद्र कुमार ने कहा, ‘‘कोविड महामारी संकट के दौरान कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन जिस तरह से बच्चों और गरीबों की मदद कर रहा है, वह सराहनीय है। फाउंडेशन से मेरा निवेदन है कि वह इस कार्य को निरंतर जारी रखें, ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा बच्‍चों की सुरक्षा हो सके।’’ 

डॉ. वीरेंद्र कुमार ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “श्री कैलाश सत्‍यार्थी के द्वारा बच्‍चों के लिए किए गए कार्य इतने व्यापक और महत्वपूर्ण हैं कि उसकी चर्चा भारत की संसद में भी होती रहती है। हमारे मंत्रालय को और मुझे भी व्‍यक्तिगत रूप से समय-समय पर मुद्दों को समझने और नीतियों आदि के निर्माण में फाउंडेशन का सहयोग मिलता रहा है। हम उम्‍मीद करते हैं कि यह सहयोग आगे भी जारी रहेगा।’’
 
कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन “कोविड केयर किट” वितरण कार्य मध्‍य प्रदेश सरकार के साथ मिलकर कर रहा है। कोविड केयर किट में दो बड़े अक्सीजन सिलेंडर और अक्सीजन कनसन्ट्रेटर से लेकर आक्सीमीटर, निबूलाइजर, थर्मामीटर, ग्लूकोमीटर, फेसमास्क, पीपीई किट, ग्लब्स, वेपोराइजर, सैनेटाइजर, विटासिन-सी टैबलेट और जरूरी दवाइयों सहित कोविड़ इलाज में इस्तेमाल होने वाली सभी आवश्यक मेडिकल वस्तुएं शामिल हैं। प्रदेश के 114 चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूटशन में कोविड केयर किट का वितरण ऑक्सीज़न कनसन्ट्रेटर के साथ किया जा रहा है। जबकि 8 जिला अस्पतालों में कोविड केयर किट ऑक्सीज़न कंस्‍ट्रेटर और 2 बड़े ऑक्सीज़न सिलेंडर के साथ दिया जा रहा है। इसके साथ ही मध्‍य प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान बाल श्रम, बाल दुर्व्‍यापार (ट्रैफिकिंग) एवं कठिन परिस्थितियों में फंसे हुए बच्चों का बचाव कर उनको शासकीय योजनाओं से जोड़ने का काम भी कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्स फाउंडेशन ने किया है।
 
कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेंस फाउंडेशन अपने सहयोगी संगठन बचपन बचाओ आंदोलन के साथ मिलकर कोविड महामारी जब से शुरू हुई है तब से ही देशभर में बच्‍चों एवं लोगों को राहत पहुंचाने के काम में जी-जान से जुटा हुआ है। अब तक देश के 18 राज्यों के 1360 चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूटशन और 639 पंचायतों में कोविड़ केयर किट का वितरण किया जा चुका है। इसके अलावा चार राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, बिहार और झारखंड के 26 जिला अस्पतालों में 2 बड़े आक्सीजन सिलेंडर और  अक्सीजन कनसन्ट्रेटर के साथ कोविड़ केयर किट दिया जा चुका है। जबकि कोविड महामारी के दौरान मध्य प्रदेश सहित देशभर में करीब 50 लाख जरूरतमंद लोगों को राशन के पैकेट और 1,13,770 गरीबों को फूड पैकेट वितरित किए गए। इसके अलावा 7,293 फूड पैकेट फ्रंट लाइन वर्कर को भी दिए गए।   
 
कैलाश सत्‍यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन के बारे में नोबेल शांति पुरस्‍कार से सम्‍मानित श्री कैलाश सत्यार्थी द्वारा स्थापित कैलाश सत्यार्थी चिल्‍ड्रेन्‍स फाउंडेशन बच्चों के शोषण और हिंसा की रोकथाम के लिए काम करने वाला एक वैश्विक संगठन है। फाउंडेशन अपने कार्यक्रमों, प्रत्‍यक्ष हस्‍तक्षेप, अनुसंधान, जन-जागरुकता और व्यवहार परिवर्तन के जरिए बाल मित्र दुनिया के निर्माण की ओर सतत अग्रसर है। श्री सत्‍यार्थी के कार्यों और अनुभवों ने हजारों बच्‍चों और युवाओं को ‘बाल मित्र दुनिया’ के निर्माण के लिए प्रेरित और प्रोत्‍साहित किया है। श्री सत्‍यार्थी ने 2016 में ‘100 मिलियन फॉर 100 मिलियन’ नामक एक विश्‍वव्‍यापी युवा आंदोलन की भी शुरुआत की है।

इस अभियान के जरिए स्‍कूल, कॉलेज और विश्‍वविद्यालयों के 10 करोड़ युवाओं को समाज के हाशिए पर पड़े 10 करोड़ वंचित बच्‍चों की सहायता के लिए प्रेरित करने का प्रयास किया जा रहा है। वे बच्चों की सामाजिक सुरक्षा की मांग के साथ ही अमीर देशों द्वारा दिए जा रहे कोविड़ राहत फंड से बच्चों को उनका उचित हिस्सा मिले इसके लिए “फेयर शेयर फॉर चिल्ड्रेन” अभियान भी चला रहे हैं।

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com