भिण्ड

खाद की कमीं को देख बेचैन हुए किसान, दिनभर लाइन में खड़े रहकर करते इंतजार शाम को लौटे खाली हाथ, प्रशासन का दावा भरपूर है डीएपी-यूरिया

किसानों के सामने गहराया खाद का संकट
खाद की कमीं को देख बेचैन हुए किसान, दिनभर लाइन में खड़े रहकर करते इंतजार शाम को लौटे खाली हाथ, प्रशासन का दावा भरपूर है डीएपी-यूरिया।

संजीव शर्मा RB न्यूज़ भिंड

भिंड।।जिले में इन दिनों खाद का संकट किसानों के सामने गहराया हुआ है। खेतों में फसल खड़ी हुई है। अच्छी बारिश की वजह से खेतों में फसल लहलहा रही है। इधर विपणन साख संस्थाओं पर किसान दिनभर कतार में खड़े रहते है। इसके बावजूद शाम को कई किसानों को खाली हाथ लौटना पड़ रहा है।सोमवार की देर शाम को कई किसान एक बार फिर से कृषि उपज मंडी स्थित पर्ची काउंटर से मायूस हाेकर लौटे। जब स्थानीय मीडिया कर्मियों द्वारा खाद की उपलब्धता की जानकारी ली गई तो पर्याप्त यूरिया होने की बात कही गई। वहीं, डीएपी की कमी होना बताया गया। इस तरह से किसानों को भ्रमित करके परेशान किया जा रहा है।


खाद के लिए सुबह से करते इंतजार
इधर, अटेर रोड निवासी किसान संजय मिश्रा ने बताया कि वो सुबह नौ बजे से लेन में लगकर खाद का इंतजार कर रहे थे। शाम के समय जब मेरा नंबर आया तब तक5 बज चुके थे।
इसी तरह से सुरूर गांव के किसान गजेंद्र सिंह ने बताया कि फसल में पांच बोरी खाद की जरूरत है।तीन बोरी दे रहे है। सुबह से भूखे प्यासे लेन में खड़े रहते है तब कही किसी को दो बोरी तो किसी को तीन बोरी ही मिल रही है।
जिले के सभी गाेदाम में पर्याप्त है खाद
इस पूरे मामले में विपणन सोसाइटी के प्रबंधक अमित गुप्ता का कहना है कि खाद की उपलब्धता पर्याप्त है। जिले के 56 गोदामों में खाद को रखवाया गया है। इसके अलावा खाद की उपलब्धता बनाए रखने के लिए नई रैक मंगाई जा रही है। सरसों की बुवाई के लिए खाद की कमीं नहीं आने दी जाएगी।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com