मध्य प्रदेश

महिला हिंसा विरोधी पखवाड़ा 2018 के अन्तर्गत आयोजित गतिविधियों की श्रंखला

  • महिला हिंसा विरोधी पखवाड़ा 2018 के अन्तर्गत आयोजित गतिविधियों की श्रंखला में शासकीय कन्या महाविद्यालय दतिया में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में मुख्यअतिथि डाॅ. शशि जादौन प्राचार्य शासकीय कन्या महाविद्यालय दतिया ने उदबोधन देते हुए कहा महिलाओं को शिक्षा सम्पन्न बनाने की आवश्यकता है साथ कानूनी जानकारी भी हो ताकि वे अधिकारों का जान सकें और उनका उपयोग कर सकें। प्राध्यापक डा. संगीता भटनागर ने उपस्थित छात्राओं से आव्हान किया कि हिंसा का विरोध आरंभ से ही करने की आवश्यकता है। ताकि हिंसक का मनोबल वहीं समाप्त हो जावे।

सामाजिक कार्यकर्ता रामजीशरण राय संचालक स्वदेश ग्रामोत्थान समिति ने बेटियों के साथ होने वाली जन्म से जीवन पर्यंन्त हिंसा के विभिन्न प्रतिरूपों को रोकने केप्रयास में सहभागी बनने की अपील की वहीं पी.सी.पी.एन.डी.टी., एम.टी.पी. के प्रवाधानों को बताया। उन्होनें महिला हेल्पलाइन 1090, 1091 के बारे में जानकारी दी साथ ही बाल विवाह, दहेज के विरूद्ध सामूहिकता से आवाज उठाने की बात कही।

जिला इकाई प्रभारी सुश्री शाहजहाँ कुरैशी नाज समाजसेवी संस्था ने पखवाड़े के उद्देश्य को बताते हुए महिलाओं पर होने वाली हिंसा को रोकने हेतु कानूनी जाकारी देते हुए महिलाओं का सम्पत्ति में अधिकार सुनिश्चित करने हेतु प्रभावी नियम बनाए जावे ताकि महिलाओं को हिंसामुक्त वतावरण मिल सके। श्रीमती मोहिनी सक्सेंना श्री रामस्वरूप रामदेवी महिला कल्याण समिति ने घरेलू हिंसा अधिनियम 2005 की हिंसा के प्रकारों को बताया महाविद्यालय में शिकायत पेटिका लगाने की बात कही। बालिका शिक्षा व किशोर स्वास्थ्य पर आवश्यक जानकारी दी।

कार्यक्रम में डाॅ. एम.एल. कुशवाह अतिथि विद्वान  ने नियमों और कानूनों में वर्णित प्रवधानों को क्रियान्वयन कराने में हम सबको अपनी भूमिका सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। डाॅ. रानू सक्सेंना कहा जागरूकता से संभव है हिंसामुक्त समाज का निर्माण। महाविद्यालय के प्राध्यापक श्रीमती शशि गुगरी ने बेटियों को शिक्षा के हथियार से सशक्त बनाकर आत्मनिर्भर बनाने की बात कही। अतिथि विद्वान गिर्राज ने क्षेत्रीय स्थिति को विश्लेषित कर बेटियों की निरन्तर कम होती संख्या पर चिंता व्यक्त की। अतिथि विद्वान  मैथिलीशरण त्रिपाठी ने बेटियों को संपत्ति में समान अधिकार को धरातल पर लाने के प्रयास करने पर जोर दिया। महाविद्यालय के प्राध्यापकों व अतिथि विद्वानों द्वारा प्रेरक विचार व्यक्त किये।

कार्यक्रम में छा़त्राओं छाया चतुर्वेदी, मेघा सक्सेंना, शिक्षा लखेरे, प्राची प्रजापति, वर्षा कुशवाह, सीता यादव, राखी यादव, प्रगति शर्मा प्रियंका शर्मा सहित अन्य अपने अपने विचार व्यक्त किए। अंत नाज संस्था के अनीश कुरैशी ने सभी का आभार व्यक्त किया।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com