आयोजन दतिया मध्य प्रदेश

बाल सुरक्षा हेतु प्रभावी प्रयास करने की करने की महती आवश्यकता- राजेश पैकरा डीपीसी

बाल सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत:
जनशिक्षकों की पॉक्सो एक्ट उन्मुखीकरण कार्यशाला आयोजित

बच्चों को सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना हम सबकी जिम्मेदारी- यूएन मिश्रा डीईओ

बच्चों को सुरक्षित व असुरक्षित स्पर्श के बारे में बार-बार बताएं- रामजीशरण राय, बालमित्र

दतिया@RBNewsindia.com>>>>>>>>>>>>>>>बच्चों को सुरक्षित वातावरण मिल सके इस उद्देश्य की प्रतिपूर्ति हेतु राज्य शिक्षा केंद्र के यूनिसेफ के निर्देशन में जिला शिक्षा केंद्र दतिया के तत्वावधान में लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 (पॉक्सो एक्ट) पर जिला स्तरीय जन शिक्षक उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन डाइट सभागार में किया गया।

आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला में मुख्यअतिथि यू.एन. मिश्रा जिला शिक्षा अधिकारी, विशिष्ट अतिथि के रूप में आर.के .सक्सेना प्राचार्य डाइट, राजेश पैकरा जिला परियोजना समन्वयक दतिया रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता एड. कल्पना राजे बैस सदस्य बाल कल्याण समिति दतिया ने की। कार्यक्रम स्रोत व्यक्ति/ मुख्यवक्ता के रूप में रामजीशरण राय संयोजक बाल अधिकार जिला बाल अधिकार मंच, बालमित्र प्रतिनिधि यूनिसेफ उपस्थित रहे। आयोजित कार्यक्रम का सफल व प्रभावी संचालन बलराम शर्मा एपीसी जिला शिक्षा केंद्र दतिया ने किया।

आयोजित उन्मुखीकरण कार्यशाला में मुख्यअतिथि जिला शिक्षा अधिकारी यू.एन. मिश्रा ने कहा बच्चों को सुरक्षित वातावरण मुहैया कराने हेतु हम सबको प्रयास करना होगा साथ ही जिले में कानून का प्रभावी क्रियान्वयन हो सके। अध्यक्षता कर रहीं एड. कल्पना राजे बैस ने बाल हितैषी जिला, तहसील व विद्यालय के साथ ही बाल हितैषी समाज बनाने पर व्यापक जानकारी देते हुए बाल कल्याण समिति के कार्यों का विश्लेषण किया।

आयोजित कार्यक्रम में मुख्यवक्ता/ स्रोत व्यक्ति रामजीशरण राय द्वारा अर्पण के प्रस्तुतिकरण के माध्यम से लैंगिक हिंसा से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की कानूनी प्रावधानों को विश्लेषण करते हुए व्यापक जानकारी देते हुए सजा व जुर्माने के बारे में भी जानकारी दी। श्री राय ने किशोर न्याय बोर्ड व किशोर न्याय अधिनियम, पीसीपीएनडीटी एक्ट के कानूनी प्रावधानों की जानकारी दी। उन्होंने उपस्थित जिले भर के जन शिक्षकों से आव्हान किया कि जिले को बाल हिंसा मुक्त बनाने हेतु सभी अपने-अपने स्तर पर आवश्यक प्रयास करें एवं विद्यालय स्तरीय बाल अधिकार मंच का गठन यथासंभव करने का कष्ट करें ताकि बाल अधिकारों पर व्यापक जन जागृति आ सके।


कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि श्री सक्सेना ने समस्त शिक्षण संस्था प्रभारियों व पदस्थ स्टाफ के बाल संरक्षण पर उन्मुखीकरण पर जोर दिया। राजेश पैकरा डीपीसी द्वारा सभी जनशिक्षकों को 30 नवंबर तक जिले भर के विद्यालय बाल अधिकार मंच गठन प्रक्रिया पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया साथ ही बाल हिंसा को समाप्त करने के प्रयासों में सहभागी बनने की अपील की। श्री पैकरा द्वारा राज्य शिक्षा केन्द्र व यूनिसेफ की मंशा को दृष्टिगत रखते हुए बाल सुरक्षा हेतु प्रभावी प्रयास करने की बात कही।कार्यक्रम में उपस्थित एपीसी रजनी मुखरैया द्वारा बच्चों पर होने वाली हिंसा के को रोकने के लिए प्रयास धरातल किए जाने की महती आवश्यकता बताई।

विधि सलाहकार/ जनशिक्षक रवि भूषण खरे द्वारा पॉक्सो एक्ट-2012 के विभिन्न प्रावधानों को परिभाषित करते हुए और बच्चों के हित में अनूठा कानून बताया। कार्यक्रम के अंत में श्रीमती रजनी मुखर्जी एपीसी द्वारा उपस्थित अतिथियों व प्रतिभागियों का जिला जिला शिक्षा केंद्र व यूनिसेफ की ओर से आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में नवोदय विद्यालय के प्राचार्य श्री त्रिपाठी, बीआरसी पुरुषोत्तम पाठक, मनीष सेंन, लक्ष्मण पैकरा, आलोक गोस्वामी व्याख्याता डाइट, बृजमोहन दुबे एपीसी, केबी त्रिपाठी, रविकांत मिश्रा, रामकुमार गुप्ता, अशोक साहू सहित समस्त जन शिक्षक उपस्थित रहे। जानकारी बलराम शर्मा एपीसी दतिया द्वारा दी गई।

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com