उत्तर प्रदेश

थानाध्यक्ष धनघटा के स्थान्तरण की मांग को लेकर भाजपा हैंसर मण्डल अध्यक्ष ने दिया त्यागपत्र

थानाध्यक्ष धनघटा संतोष तिवारी को हटाने बीजेपी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का मण्डल अध्यक्ष ने लगाया है आरोप
थानाध्यक्ष धनघटा संतोष कुमार तिवारी के स्थान्तरण की मांग को लेकर भाजपा हैंसर मण्डल अध्यक्ष रणविजय सिंह ने थानाध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। तीन दिन पूर्व हैंसर मण्डल अध्यक्ष रणविजय सिंह ने कमेटी के सदस्यों के साथ सामूहिक तौर पर जिलाध्यक्ष को अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है। थानाध्यक्ष धनघटा के नौ मांह के कार्यकाल के दौरान स्थानीय भाजपा पदाधिकारियों से थानाध्यक्ष के काफी दोस्ताना सम्बन्ध देखे जा रहे थे। अचानक बीते चार दिन पूर्व थाना क्षेत्र के बारीडिहा गांव निवासी दो सगे भाई एनुल अली व सरदार अली पुत्रगण इसहाक अली के बीच हुए जमीनी विवाद को लेकर मण्डल अध्यक्ष द्वारा की गई पैरवी को लेकर मण्डल अध्यक्ष और थानाध्यक्ष के बीच सम्बन्धों में दरार आ गई और उसके बाद से ही मण्डल अध्यक्ष श्री सिंह ने थानाध्यक्ष के स्थान्तरण की मांग को लेकर मोर्चा खोल दिय अनुसार दोनों भाईयों के बीच शौचालय निर्माण को लेकर 10 दिन पूर्व विवाद हुआ तो सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझा बुझाकर विवाद को शान्त करा दिया साथ ही दोनों भाईयों के बीच लिखित तौर पर सुलह समझौता भी करा दिया। जानकारी के अनुसार बीते 11 दिसम्बर को दुबारा दोनों भाई एनुल अली और सरदार अली उसी जमीन को लेकर विवाद पर उतारू हो गए और बाद में दोनों भाईयों मेंसे किसी ने 100 नम्बर पर फोन कर विवाद की सूचना पुलिस को दे दी जिसपर बारीडीहा गांव मौके पर पहुंची पुलिस ने मारपीट पर अमादा दोनों भाईयों को हिरासत में लेकर थाने पहुंचा दिया। सूत्रों के अनुसार दोनों भाईयों को पुलिस हिरासत से रिहा कराने के लिए भाजपा हैंसर मण्डल अध्यक्ष रणविजय सिंह थाने पहुंच गए लेकिन उस वक्त थानाध्यक्ष खुद जिला मुख्यालय पर आयोजित सामूहिक विवाद कार्यक्रम में डियुटी दे रहे थे। बकौल थानाध्यक्ष भाजपा नेता श्री सिंह ने थाने के कार्यालय में कार्यरत पुलिसकर्मी के उपर उक्त दोनां भाईयों को रिहा करने के लिए दबाव बनाया लेकिन कार्यालय के पुलिसकर्मी ने दोनों भाईयों को रिहा करने से इनकार कर दिया। उसी बीच मण्डल अध्यक्ष ने थानाध्यक्ष को भी फोन किया लेकिन दोनों भाईयों की तबतक पुलिस ने शान्ति भंग की आशंका में गिरफतारी दर्शा दिया था जिसके कारण दोनों भाईयों को रिहा करना मुमकिन न होने का हवाला देते हुए थानाध्यक्ष ने दोनों को धारा 151 के तहत चालान कर दिया। बकौल थानाध्यक्ष उन्हीं दोनों भाईयों को थाने से रिहा न करने के कारण हैंसर मण्डल अध्यक्ष श्री सिंह नाराज होकर उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उधर दूसरी ओर भाजपा हैंसर मण्डल अध्यक्ष द्वारा अपनी कमेटी के साथ पद से दिए गए त्यागपत्र के सम्बन्ध में पूछे जाने पर भाजपा जिलाध्यक्ष सेतबान राय ने कहा कि हैंसर क्षेत्र के कुछ पार्टी पदाधिकारियों के थानाध्यक्ष से नाराजगी की बात संज्ञान में आई है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि जल्द मिल बैठकर आपस में पार्टी पदाधिकारियों को संतुष्ट करते हुए उनकी नाराजगी दूर करा दी जाएगी।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com