देश

अंडरपास संघर्ष मोर्चा की बैठक में पूर्व सांसद अष्टभुजा शुक्ला ने दिखाई पहल, रेल राज्य मंत्री से हुई वार्ता

संतकबीर नगर- अंडरपास संघर्ष मोर्चा द्वारा पिछले 3 महीनों से लगातार हो रही बैठक, धरने व् प्रदर्शन को संज्ञान में रखते हुए आज दिनांक 20/01/2019, दिन रविवार को एक महत्वपूर्ण बैठक आहूत हुई, इस बैठक में आगे की रणनीति तथा रेलवे बोर्ड द्वारा आगे की कार्यवाही पर चर्चा की गई। आज के कार्यक्रम में पूर्व सांसद अष्टभुजा शुक्ला ने शिरकत करते हुए कहा कि पिछले 12 जनवरी को रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा जी से मुखलिसपुर रोड रेलवे क्रासिंग संख्या 178 पर ओवरब्रिज बन जाने से जनजीवन अस्त-व्यस्त व् अंडरपास बनाने के उपलक्ष्य पर बात हुई, उन्होंने इसके लिए रेलवे द्वारा टेक्निकल जांच के आदेश दिए हैं।
आपको बताते चले कि शहर का दिल कहे जाने वाले मोहल्ले गोला बाजार दक्षिण, हनुमान गढ़ी व् औद्योगिक नगर, कैलाश नगर, गांधी नगर, गोरखल, गायत्रीपुरम को ये मुखलिसपुर रोड रेलवे क्रासिंग दो हिस्सों में बांटती है। व्यापारियों व् शहरवासियों के आक्रोश का आलम यह है कि अंडरपास बनाने के लिए अंडरपास मोर्चा के सदस्यों व जनता द्वारा विगत तीन महीनों की भांति आज भी उग्र प्रदर्शन किया गया।
आपको बताते चले कि इस अंडरपास की पहल के लिए ज्ञापन रेलवे अधीक्षक खलीलाबाद, रेल मंत्रालय, DRM लखनऊ, GM गोरखपुर, सदर सांसद शरद त्रिपाठी, चेयरमैन श्याम सुंदर वर्मा, सदर विधायक दिग्विजय नारायण उर्फ जय चौबे को दिया जा चुका है।
इस प्रदर्शन की अगुवाई करते हुए आलोक श्रीवास्तव दानिश खान व् विवेक वर्मा उर्फ गोलू ने कहां की जनता की बेहद महत्वपूर्ण जरूरत है रेलवे अंडरपास, इसके लिए हर कीमत पर लड़ाई लड़ी जाएगी, आज का संघर्ष कल की नई उम्मीद जगायेगा, हम सबको डट कर आगे बढ़ना है।
अंडरपास संघर्ष मोर्चा के सदस्य सुबह से ही सैकड़ों की तादाद में मोहल्ले वासियों ने मुखलिसपुर रेलवे क्रासिंग पर उग्र प्रदर्शन कर अपना विरोध दर्ज कराया।
इसी क्रम में अंडरपास संघर्ष मोर्चा ने क्रान्तिकारी स्वरूप में बस एक सुर में यह संकल्प लिया कि हम सबको किसी भी हद तक जाकर अण्डरपास बनवाना होगा जिसके लिए यदि आज हमलोग अपना कार्य-भार छोड़कर भूखों मर रहे हैं और शांतिपूर्ण विरोध जता रहे हैं तो इसको हमारी कमजोरी न समझा जाए, अगर हमारे पेट पर इसी तरह लात पड़ेगी तो हम लोग अपने आंदोलन को और उग्र करेंगे और मजबूरन हमें रेल रोकना तथा बायपास जाम करना पड़ेगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी शाशन-प्रशासन व् रेल-बोर्ड की होगी।
इस जनसमस्या के विरोध में मुख्य रूप से पूर्व सांसद अष्टभुजा शुक्ला, विवेक वर्मा उर्फ गोलु, दानिश खान, पारसनाथ जायसवाल, आलोक श्रीवास्तव, विजय नारायण, प्रदीप चटर्जी, कृष्णा सर्राफ, विजय बहादुर सिंह, आदीत्य गुप्ता, महेश जायसवाल, राज श्रीवास्तव, अभिषेक वर्मा, विजय, वंशनाथ अग्रहरि, दुर्गा मद्देशिया, बहादुर सिंह, राम प्रसाद, अविनाश त्रिपाठी, राम लखन, प्रदीप चटर्जी, दीनानाथ राजा, सुबोध शर्मा, रामाशंकर जायसवाल, रमेश सिंह इत्यादि सैकड़ों लोग उपस्थित रहें।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com