देश

निलंबित शिक्षक उपस्थिति रजिस्टर पर कर रहा है हस्ताक्षर

दतिया। हाईस्कूल का निलंबित शिक्षक प्राचार्य से सांठगांठ कर उपस्थिति रजिस्टर पर कर रहा हस्ताक्षर।

नौ जनवरी को डीईओ ने लेन देन की शिकायत पर गोंदन शिक्षक शाक्य को किया था निलंबित।

गोंदन हाईस्कूल संकुल केंद्र पर पदस्थ शिक्षक नरेंद्र प्रताप शाक्य एक शिक्षक से छठवें वेतनमान का लाभ देने के ऐवज में लेन देन की शिकायत होने पर डीईओ एसके मिश्रा द्वारा नौ जनवरी को निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद भी शिक्षक शाक्य संकुल प्राचार्य सुरेश धारकर से सांठगांठ कर उपस्थिति रजिस्टर पर हस्ताक्षर कर रहा है। निलंबित शिक्षक के हस्ताक्षर करवाने की बात पर प्राचार्य का कहना है कि उनके पास डीईओ ने किसी तरह का सस्पेंशन ओर्डर नहीं भेजा है। गोंदन हाईस्कूल में प्राचार्य और शिक्षकों के बीच गठजोड़ इतनी ज्यादा है कि शिक्षक अगर एक दिन नहीं जाते हैं तो उस दिन के हस्ताक्षर वे अगले दिन स्कूल में जाकर कर देते हैं। यह हकीकत संकुल केंद्र पर रखा उपस्थिति रजिस्टर बता रहा है।
जानकारी के अनुसार ग्राम गोंदन में स्थित हाईस्कूल में प्राचार्य समेत कुल नौ शिक्षक पदस्थ हैं। प्राचार्य सुरेश धारकर, अजय कुमार प्रजापति, राकेश सोनवानी, अशोक सिंह धाकड़, वर्षा अग्रवाल, नाथूराम सहरिया, बालकिशन, नरेंद्र प्रताप शाक्य और रचना यादव पदस्थ हैं। सहायक शिक्षक नरेंद्र प्रताप शाक्य संकुल में लेखा का काम देखता था। पिछले दिनों उसने एक शिक्षक से छठवे वेतनमान का लाभ देने के ऐवज में मोबाइल पर पैसों की डिमांड की। यह शिकायत डीईओ मिश्रा तक पहुंच गई। डीईओ मिश्रा ने शिक्षक शाक्य को नौ जनवरी को निलंबित कर मुख्यालय सेंवढ़ा कर दिया था। लेकिन डीईओ मिश्रा निलंबित शिक्षक का आदेश संकुल केंद्र पर भेजना भूल गए। आदेश न मिलने का बहाना बनाकर प्राचार्य धारकर ने निलंबित शिक्षक से नौ व 10 अक्टूबर को उपस्थिति रजिस्टर पर हस्ताक्षर कराए। इसके बाद 11, 12 व 13 को शिक्षक के रजिस्टर में हस्ताक्षर नहीं है। इनके अगले दिन यानि 14, 15, 16 और 17 जनवरी को निलंबित शिक्षक ने पुन: उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर किए। 18 जनवरी शनिवार को उपस्थिति रजिस्टर में प्राचार्य धारकर, प्रधानाध्यापक नाथूराम सहरिया और बालकिशन के हस्ताक्षर नहीं हैं। यानि प्रधान आरक्षक समेत प्रधानाध्यापक और शिक्षक बालकिशन तीनों 18 जनवरी को अनुपस्थित रहे। अनुपस्थिति का कारण भी उपस्थिति रजिस्टर में अंकित नहीं है।

गोंदन संकुल केंद्र पर खुलकर शिक्षा विभाग के नियमों की धज्जियां उड़ रही हैं। सूत्र बताते हैं कि गोन्दन प्राचार्य भांडेर एसडीएम बांकना का रिश्तेदार है और उन्ही की छत्र छाया में शिक्षा के मंदिर में जमकर भर्ष्टाचार कर रहा है। दलित होने के चलते आएदिन शिकायत करने वालों को हरिजन एक्ट की धमकी देता है। यहां तक कि डीईओ मिश्र तक उसकी जेब में धरे हैं। यही कारण है कि अभी तक उसको एक नोटिस तक जारी नही हुआ।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com