देश राजनैतिक राज्य

लोकसभा चुनाव: बीजेपी की पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल, आडवाणी, जोशी का कटेगा टिकट?

लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल कर लिए हैं। कई सीनियर चुनाव लड़ने से मना कर चुके हैं। इस वजह से आडवाणी और जोशी की टिकट भी कट सकती है।

हाइलाइट्स
भारतीय जनता पार्टी ने पहली लिस्ट के 250 नाम फाइनल कर लिए हैं
कई सीनियर नेताओं ने युवाओं का मौका देने की बात कहकर चुनाव लड़ने से मना किया
इस तर्ज पर लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी का टिकट भी कट सकता है
आडवाणी गुजरात के गांधीनगर से और जोशी यूपी के कानपुर से सांसद हैं

नई दिल्ली
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की पहली लिस्ट का इंतजार जल्द खत्म हो सकता है। खबर है कि सत्ताधारी पार्टी ने करीब 250 नाम फाइनल कर लिए हैं। इस लिस्ट में कई नामों का शामिल होना चौंका सकता है वहीं कई का न होना हैरान भी करेगा। सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी की संसदीय कमिटी द्वारा तैयार की गई लिस्ट में कई दिग्गजों का टिकट कटना तय है। ऐसे में सबके सामने सवाल है कि लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी इसबार चुनाव लड़ेंगे या नहीं।

सीनियर नेताओं ने खुद वापस लिया नाम
मिली जानकारी के मुताबिक, उत्तराखंड के पूर्व सीएम बी सी खंडूरी और बी एस कोश्यारी ने खुद से चुनाव नहीं लड़ने का मन बनाया है। दोनों नेता चाहते हैं कि युवाओं को मौका दिया जाए। पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र (2014 में देवरिया से जीते) और पूर्व डेप्युटी स्पीकर करिया मुंडा भी चुनाव नहीं लड़ने के पक्ष में है।

इससे इस बात की संभावनाएं बढ़ गई हैं कि लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश के सीएम शांता कुमार को भी चुनावी दौड़ से बाहर कर दिया जाए या वे खुद अपना नाम आगे न बढ़ाएं।

आपको बता दे कि अडवाणी फिलहाल 91 साल के है और मुरली मनोहर जोशी के साथ उन्हें भी पार्टी नेतृत्व ने 2014 में ही मार्ग दर्शन मंडल में शामिल कर दिया था। तब बीजेपी ने संघ परिवार के साथ मिलकर तय किया था कि 75 साल से ऊपर के किसी शख्स को कार्यकारी जिम्मेदारियां नहीं दी जाएंगी।

लोकसभा चुनाव से जुड़ी रोचक बातेंएक क्षेत्र से थे 3 सांसदहर उम्मीदवार के लिए अलग बैलट

बता दें कि आडवाणी अबतक गुजरात की गांधीनगर सीट से चुनाव लड़ते रहे हैं। देश के गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री रहे लालकृष्ण आडवाणी लगातार 6 बार गांधीनगर लोकसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं। 1984 में बीजेपी को दो सीटों से 180 सीटों तक पहुंचाने वाले लालकृष्ण आडवाणी फिलहाल राजनीति के केंद्र में नहीं हैं। 2014 में पीएम नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी का विरोध किए जाने के बाद से वह पार्टी में भी एक तरह से हाशिये पर ही हैं।

वहीं कानपुर से सांसद जोशी को टिकट मिलने के चांस भी कम हैं। खबरें थी कि उनके समर्थक प्रचार की तैयारियों में जुटना चाहते थे लेकिन जोशी ने उन्हें यह कहकर मना कर दिया था कि अभी टिकट ही पक्का नहीं है।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com