चुनावी हलचल देश राजनैतिक

Big breaking -EC के दर पर आज दस्तक देंगे 22 विपक्षी दल, EVM में गड़बड़ी का उठाएंगे मुद्दा

अनूप मिश्रा को हुआ ऑडियो वायरल –

*चुनाव आयोग से मिलने वाले दलों में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस भी शामिल हो सकती है. टीएमसी की ओर से राज्यसभा में पार्टी के नेता डेरेक ओ ब्रायन प्रतिनिधित्व कर सकते हैं. चुनाव आयोग के साथ मंगलवार 3 बजे बैठक होनी तय है.*

नई दिल्ली. विपक्षी पार्टियां मंगलवार को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वीवीपैट के मामले में चुनाव आयोग से मिलने की तैयारी में हैं. इस अभियान की अगुआई आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) चीफ चंद्रबाबू नायडू कर रहे हैं. ईवीएम में कथित गड़बड़ी को लेकर वे काफी दिनों से चुनाव आयोग से शिकायत करते रहे हैं. उन्होंने सोमवार को भी अपना विरोधी स्वर तेज रखा और कहा कि ‘राजनीतिक दल ईवीएम की सुरक्षा में लगे हैं क्योंकि ऐसी अफवाह है कि फ्रीक्वेंसी की मदद से ईवीएम में स्टोर डेटा को बदला जा सकता है.’

चंद्रबाबू नायडू ने सोमवार को दोहराया कि ईवीएम में छेड़छाड़ काफी आसान है जैसा कि फोन टैपिंग में किया जाता है. इसी को देखते हुए उन्होंने मतों की गिनती के दौरान 50 फीसदी वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) पर्चियों का मिलान ईवीएम से कराने की मांग की है. सूचना के मुताबिक चुनाव आयोग से मिलने वाले दलों में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस भी शामिल हो सकती है. टीएमसी की ओर से राज्यसभा में पार्टी के नेता डेरेक ओ ब्रायन प्रतिनिधित्व कर सकते हैं. चुनाव आयोग के साथ मंगलवार 3 बजे बैठक होनी तय है. इस समूह में 21 विपक्षी दल हैं जो सुप्रीम कोर्ट में इस मामले को ले जा चुके हैं.

विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस भी शामिल होगी. हालांकि अभी यह तय नहीं है कि पार्टी की ओर से कौन प्रतिनिधित्व करेगा. रविवार की शाम कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने निर्वाचन आयोग पर हमला करते हुए कहा था कि “आयोग का प्रधानमंत्री और उनकी मंडली के आगे समर्पण स्पष्ट है” और इसके बाद इसकी प्रतिष्ठा नहीं रहेगी. उन्होंने ट्वीट किया, “चुनावी बांड और ईवीएम से लेकर चुनाव की तारीखें तय किए जाने तक में चालाकी की गई, नमो टीवी, ‘मोदी आर्मी’ और अब केदारनाथ में ड्रामा, चुनाव आयोग का प्रधानमंत्री और उनकी मंडली के आगे समर्पण सभी हिंदुस्तानियों के सामने स्पष्ट है. आयोग डरा हुआ रहेगा और अब उसकी प्रतिष्ठा नहीं रहेगी.” कांग्रेस पार्टी अपनी शिकायतें चुनाव आयोग के सामने रखेगी.

इससे पहले नायडू ने शनिवार को कहा कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ संभव है इसलिए हम मांग करते हैं कि चुनावी प्रक्रिया में पारदर्शिता के लिए वीवीपैट पर्चियों का इस्तेमाल बैलेट पैपरों की तरह किया जाना चाहिए. नायडू ने कहा कि उन्हें कुछ लोगों से पता चला है कि पैसे देकर चुनाव नतीजों को किसी के पक्ष में किया जा सकता है. मौजूदा समय में, मतदाताओं को अपना मतदान करने के बाद वीवीपैट पर्चियों और जानकारियों की पुष्टि के लिए सात सेकेंड का समय मिलता है. इसके बाद यह कनेक्टेड बॉक्स में चला जाता है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजों को ‘गप’ करार देते हुए रविवार को कहा कि यह ‘हजारों ईवीएम को बदलने और उनसे छेड़छाड़ करने का गेमप्लान’ है. उन्होंने विपक्षी नेताओं से मजबूती के साथ एकजुट रहने को कहा. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने कहा, “मैं एग्जिट पोल की गपबाजी में यकीन नहीं करती. इस गप के जरिए हजारों ईवीएम को बदल देने और उनसे छेड़छाड़ करने का गेमप्लान काम कर रहा है.”

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com