गोहद भिण्ड मध्य प्रदेश मालनपुर

श्रमिकों के साथ और रहे शोषण को लेकर दिया ज्ञापन

 

युवा नेता सचिन शर्मा प्रदेश सचिव युवा कांग्रेस ने दिया ज्ञापन 

ओधोगिक क्षेत्र मालनपुर में संचालित हो रही गोदरेज कंपनी में श्रमिकों के साथ लागातार हो रहे मजदूरों के शोषण के खिलाफ श्रम अधिकारी को ज्ञापन हो गया है तो कहा जल्द ही कंपनी प्रबंधन श्रमिकों पर हो रहे अन्याय अत्याचार बंद नहीं किया गया – जल्द ही कंपनी प्रबंधन के खिलाफ आंदोलन किया जावेगा …!
मालनपुर में स्थित गोदरेज कंपनी नहीं कर रही श्रम नियम कानूनों का पालन कंपनी में कार्यरत श्रमिकों को नहीं दिया जा रहा हे मजदूरी का पूरा भुगतान ओर जमकर कर भविष्य निधि (पीएफ) चोरी व समय पर नहीं करते हे मजदूरी का पूरा भुगतान
श्रम कानूनों की गणना नहीं दी जा रही है श्रमिकों को वेतन …!
ठेकेदारों द्वारा श्रमिकों अमरजस्ती ओवरटाइम करने के लिए मजबूर किया जाता हे जो श्रम नियमों के खिलाफ हे अगर ठेकेदार या कंपनी प्रबंधन ऐसा करते हे तो उन पर तत्काल कार्यवाही व लाइसेंस निरस्त करने का प्राबधान हे …!
3  श्रमिकों द्वारा ओवररीन ना करने की स्थिति में श्रमिकों को कंपनी से निकाल दिया जाता है हे जिससे श्रमिकों को मजबूरन करने के लिए मजबूर होना पड़ता है: हे …!
4  श्रमिकों को ओवरनाइट का पूरा भुगतान नहीं किया जाता हे …!
5 श्रमिकों से नियमित 12-12 घंटे ड्यूटी करवाई जा रही है जो श्रम नियमों के खिलाफ हे …!
६ अगर  श्रमिकों से नियमिण्टे ड्यूटी किए जा रहे हे तो उन्हें उनकी मजदूरी का दौगुना भुगतान देने का निषध्रम नियम में हे लेकिन क्षेत्र में संचालित कंपनियों श्रमिकों को उनका दौगुना भुगतान नहीं करता हे ओर श्रमिकों द्वारा दौगुना भुगतान मांगने पर नौकरी से निकाल देने की आशंका दी गई है। जाता है जिससे श्रमिकों को उनके शासन द्वारा निर्धारित वेतन नहीं मिल जाता है …!
7  कं परिसर में श्रमिकों के साथ कोई भी घटना घटित होती हे तो उसके पुरे इलाज की जिम्मेदारी कंपनी प्रबंधन की होती हे लेकिन कंपनी प्रबंधन ऐसा नहीं करता हे जो की श्रम नियम कानूनों के खिलाफ हे …!
8  कंपनी में श्रमिकों के साथ कोई भी दुर्घटना होती है तो पीड़ित को 10 की  लाख तक की राहत राशि व परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी गई जाने का प्रावधान हो …!
भूमि से प्रत्येक किसान के परिवार को एक सदस्य को कंपनी में नौकरी दी जाएगी …!
10  अनुकूल, अकुशल की ओर से कुमकुम, मजदूरी के मापदंड तय कर उन्हें उनकी क्षमता के अनुसार वेतन दिया जाना चाहिए …!
11  ठेकपन प्रथा को बंद कर दिया गया जिससे मजदूरों को उनका पूरा हक मिल सकेगा …!
12  कैमिकल युक्त पानी कंपनी परिसर के बाहर न छोड़ा जाए कंपनी कैमिकल युक्त पानी कंपनी के बाहर नालों में छोड़ देती हे जो आस पास के नदी तालाबों में जाती हे जिससे कई जीव जंतु मौत के मुंह में समा जाते हे …!

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com