भिण्ड मेहगांव

मेहगॉव-51 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ मे होगा समस्त बुराईयों का अन्त

51 कुंडीय गायत्री महायज्ञ में बुराइयों का होगा अंत
– बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक बनेगा यह महायज्ञ
– अखिल विश्व गायत्री परिवार शांति कुंज हरिद्वार के तत्वावधान में मेहगांव नगर ग्वालियर रोड पण्डित अशोक भारद्वाज जी के निबास पर 10 अक्टूबर 2019 से 13 अक्टूबर 2019 तक
अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार द्वारा भिंड जिले के मेहगांव नगर में 10 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक 51 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का आयोजन होने जा रहा है इस धार्मिक आयोजन की खासियत यह है कि यज्ञ के जरिए सभी लोग समाज में फैली बुराइयों को समाप्त करने का संकल्प लेंगे यह संकल्प विजयादशमी पर्व की तरह बुराइयों पर अच्छाई की जीत का प्रतीक बनेगा।
यह आयोजन सामाजिक सरोकार से जुड़ जाए इसके लिए समाजसेवी पण्डित अशोक भारद्वाज के निज निबास पर शांतिकुंज हरिद्वार के बिद्वान एवं आचार्यों समाज में फैली बुराइयों के खिलाफ लोगों को संकल्प दिलाने का निर्णय लेंगे इसके तहत पर्यावरण की शुद्धता प्रदूषण के खिलाफ शंखनाद युवाओं के लिए नशा अभिशाप बनता जा रहा है इसलिए नशा मुक्ति का संकल्प भी लिया जाएगा इसी तरह समाज की जिम्मेदारी है संस्कारों को गढ़ना और नई पीढ़ी को तैयार करना यह संकल्प भी गायत्री महायज्ञ के जरिए लोगों को दिलाया जाएगा।
भ्रूण हत्या अभिशाप है इसे रोकना होगा
विशेषकर भिंड जिले में लिंगानुपात की स्थिति खराब है और मेहगांव इसमें आगे है इसलिए इस धार्मिक अनुष्ठान में सम्मिलित होने वाले सभी लोगों को भ्रूण हत्या के खिलाफ जंग लड़ी जाए इसका संकल्प दिलाया जाएगा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ इसी अभियान का एक हिस्सा रहेगा।
सरहद पर खड़ा जवान, हमारा देवता
एक समय था जब हम देवताओं की स्तुति परिवार और समाज की रक्षा के लिए करते थे देवता हमने देखे नहीं हैं लेकिन जो समाज देश परिवार की रक्षा करने का दायित्व उठा रहे हैं ऐसे जवान हमारे देवता हैं और जिन्होंने अपनी आहुतियां देश के लिए दे दी हैं उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए इस यज्ञ से श्रेष्ठ कोई दूसरा माध्यम नहीं हो सकता।
दहेज एक अभिशाप इससे लड़ना हमारा काम दहेज सामाजिक बुराई के रूप में हमारे सामने खड़ा गायत्री परिवार का मानना है इसके खिलाफ समाज के लोगों को खड़ा होना पड़ेगा क्योंकि आयोजन में हजारों लोग जुड़ेंगे इसलिए उन्हें दहेज के खिलाफ संकल्प दिलाया जाएगा।
जल संरक्षण आज की जरूरत
हमें ध्यान रखना होगा पेयजल की किल्लत आने वाले समय में कभी भी खड़ी हो सकती है इसलिए इसे बचाने की जिम्मेदारी हम सभी को आज से निभाना होगी जल संरक्षण के लिए पौधरोपण भी जरूरी है यह एक दूसरे के पूरक हैं। समाज में एक विषय और खड़ा हुआ है शिक्षित नहीं संस्कारित बनो स्वावलंबी बनो इस विषय पर भी ना सिर्फ चर्चा होगी बल्कि लोगों को मानसिक रूप से तैयार किया जाएगा।
10 अक्टूबर को निकलेगी कलश यात्रा
10 अक्टूबर 2019 को 2100 महिलाएं सरस्वती माध्यमिक विद्यालय से यज्ञ स्थल तक सर पर कलश लेकर पैदल चलेगी बुराइयों को दूर करने के लिए नगर बासी कलस यात्रा पर पुष्प वर्षा करेंगे यह इस बात का प्रतीक होगा कि आसमान से स्वयं देवता पुष्प वर्षा कर रहे हैं।

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com