आस्था ग्वालियर मध्य प्रदेश

ग्वालियर-भगवत गीता के बिना जीबन सम्पूर्ण नही होता है आचार्य रमेश शास्त्री

जीभगवत गीता के बिना जीबन सम्पूर्ण नही होता है आचार्य रमेश शास्त्री जी
ग्वालियर।भगवत गीता के बिना जीबन सम्पूर्ण नही होता है अगर भारत के नागरिक हो और घर में गीता न हो यह बड़े दुःख की बात है यह बात कथा ब्यास मानस मर्मज्ञ परम् पूज्य पंडित रमेश शास्त्री जी ने थाटीपुर सर्कल के नेहरू कॉलोनी में नेहरू पार्क में थापक परिवार दुआरा आयोजित श्री मद् भागबत का रसपान कराते हुए कही है उन्होंने कहा जो मनुष्य गीता को समझ लेता है वह स्वयं को और संसार को समझ लेता है गीता के पाँच स्लोको का निरन्तर पाठ करने से मनुष्य को दूसरी योनि में नही जाना पड़ता है पूरी श्री मद् भगबत गीता का पाठ करने में कितना फल प्राप्त होगा यानि स्वयं परमात्मा की प्राप्ति हो जायेगी गीता का पाठ करने बाला मनुष्य कभी अपने कर्म पथ से हट नही सकता है महेश शास्त्रीजी ने कहा अर्जुन और भगवान श्री कृष्ण के कई तरह के संबन्ध थे अर्जुन और भगवान कृष्ण मित्र थे भगवान कृष्ण अर्जुन के साले थे लेकिन भगवान कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश नही दिया सारे संबन्ध भुलाकर जब अर्जुन ने नया संबन्ध बनाया शिष्य का और युद्ध के मैदान में जब अर्जुन ने भगवान श्री कृष्ण से कहा कि प्रभु में आपका शिष्य हूँ में आपकी शरण में हूँ तो युद्ध क्षेत्र के मैदान में भी भगवान श्री कृष्ण को अर्जुन को गीता का उपदेश देने में कोई परेशानी नही हुई महेश शास्त्री जी ने आगे कहा कि मनुष्य को कर्म करते रहना चाहिए फल की इच्छा नही करनी चाहिए कर्म करोगे तो फल जरूर मिलेगा मनुष्य का शरीर खेती है चाहने न चाहने पर भी फल जरूर मिलेगा और फल को भुगतना भी पड़ेगा उन्होंने कहा कि अगर आप भगवत गीता पढ़ नही नही सकते हो तो तो भगवत गीता को सिर से लगालो बुद्धि सुधर जायेगी जगत गुरु भगवान श्री कृष्ण का स्वरूप भगवत गीता है माँ ने आगे कहा कि अगर जीबन में धन प्राप्त हुआ है तो धर्म करो मुफ़्त में लेना बन्द करो मुफ़्त में लेने से दरिद्रता बढ़ती है अगर आप मन्दिर जाते है और भगवान से भी कुछ मांगते हो तो यह मांगो कि प्रभु मेरा पुरुषार्थ सफल हो जाये पुरुषार्थ से जो परिणाम मिलता है वह भगवान का प्रसाद होता है इसके बाद आचार्य रमेश शास्त्री ने कृष्ण जन्म की कथा विस्तार से सुनाई ओर भक्तों ने भी कृष्ण जन्मोत्सव पर जमकर उत्साह मनाया एबम जमकर नाच गाने हुऐ ।इसके बाद भगवान की महिमा बताते हुऐ कहाँ की भगवान जिसको एक बार देख लेते है बो पवित्र हो जाता है भगवान की भक्ति में भाव का होना जरूरी है जैसा आपका भाव होगा उसी प्रकार का आपको फल मिलेगा। भागवत कथा के समापन पर भव्य आरती हुई।भागवत आरती में मुख्य रूप से कथा यजमान जगतनारायण थापक भाजपा नेता राकेश जादौन श्री कृष्ण कटारे जितेंद्र जादौन जयवीर पुरोहित पटेल यादव निर्मल आर्य भीष्म प्रताप भदौरिया राजीव भदोतिय रामसिया थापका के के थापक सतीश थापक सुभाष थापक राजीव थापक गुड्डू भटेले अमित दुबे आनंद गुप्ता नितेश थापक आदि मौजूद थे।
ग्वालियर।भगवत गीता के बिना जीबन सम्पूर्ण नही होता है अगर भारत के नागरिक हो और घर में गीता न हो यह बड़े दुःख की बात है यह बात कथा ब्यास मानस मर्मज्ञ परम् पूज्य पंडित रमेश शास्त्री जी ने थाटीपुर सर्कल के नेहरू कॉलोनी में नेहरू पार्क में थापक परिवार दुआरा आयोजित श्री मद् भागबत का रसपान कराते हुए कही है उन्होंने कहा जो मनुष्य गीता को समझ लेता है वह स्वयं को और संसार को समझ लेता है गीता के पाँच स्लोको का निरन्तर पाठ करने से मनुष्य को दूसरी योनि में नही जाना पड़ता है पूरी श्री मद् भगबत गीता का पाठ करने में कितना फल प्राप्त होगा यानि स्वयं परमात्मा की प्राप्ति हो जायेगी गीता का पाठ करने बाला मनुष्य कभी अपने कर्म पथ से हट नही सकता है महेश शास्त्रीजी ने कहा अर्जुन और भगवान श्री कृष्ण के कई तरह के संबन्ध थे अर्जुन और भगवान कृष्ण मित्र थे भगवान कृष्ण अर्जुन के साले थे लेकिन भगवान कृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश नही दिया सारे संबन्ध भुलाकर जब अर्जुन ने नया संबन्ध बनाया शिष्य का और युद्ध के मैदान में जब अर्जुन ने भगवान श्री कृष्ण से कहा कि प्रभु में आपका शिष्य हूँ में आपकी शरण में हूँ तो युद्ध क्षेत्र के मैदान में भी भगवान श्री कृष्ण को अर्जुन को गीता का उपदेश देने में कोई परेशानी नही हुई महेश शास्त्री जी ने आगे कहा कि मनुष्य को कर्म करते रहना चाहिए फल की इच्छा नही करनी चाहिए कर्म करोगे तो फल जरूर मिलेगा मनुष्य का शरीर खेती है चाहने न चाहने पर भी फल जरूर मिलेगा और फल को भुगतना भी पड़ेगा उन्होंने कहा कि अगर आप भगवत गीता पढ़ नही नही सकते हो तो तो भगवत गीता को सिर से लगालो बुद्धि सुधर जायेगी जगत गुरु भगवान श्री कृष्ण का स्वरूप भगवत गीता है माँ ने आगे कहा कि अगर जीबन में धन प्राप्त हुआ है तो धर्म करो मुफ़्त में लेना बन्द करो मुफ़्त में लेने से दरिद्रता बढ़ती है अगर आप मन्दिर जाते है और भगवान से भी कुछ मांगते हो तो यह मांगो कि प्रभु मेरा पुरुषार्थ सफल हो जाये पुरुषार्थ से जो परिणाम मिलता है वह भगवान का प्रसाद होता है इसके बाद आचार्य रमेश शास्त्री ने कृष्ण जन्म की कथा विस्तार से सुनाई ओर भक्तों ने भी कृष्ण जन्मोत्सव पर जमकर उत्साह मनाया एबम जमकर नाच गाने हुऐ ।इसके बाद भगवान की महिमा बताते हुऐ कहाँ की भगवान जिसको एक बार देख लेते है बो पवित्र हो जाता है भगवान की भक्ति में भाव का होना जरूरी है जैसा आपका भाव होगा उसी प्रकार का आपको फल मिलेगा। भागवत कथा के समापन पर भव्य आरती हुई।भागवत आरती में मुख्य रूप से कथा यजमान जगतनारायण थापक भाजपा नेता राकेश जादौन श्री कृष्ण कटारे जितेंद्र जादौन जयवीर पुरोहित पटेल यादव निर्मल आर्य भीष्म प्रताप भदौरिया राजीव भदोतिय रामसिया थापका के के थापक सतीश थापक सुभाष थापक राजीव थापक गुड्डू भटेले अमित दुबे आनंद गुप्ता नितेश थापक आदि मौजूद थे।

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com