उत्तर प्रदेश

ग्रामीणों को पैन कार्ड बनाने के बहाने ठगने वाला अभियुक्त गिरफ्तार


पुलिस अधीक्षक जनपद संतकबीरनगर श्री आकाश तोमर के निर्देशन व अपर पुलिस अधीक्षक श्री असित श्रीवास्तव के पर्यवेक्षण में जनपद संतकबीरनगर में ठगी करने वाले अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के दौरान दिनांक 24.11.2018 को थाना खलीलाबाद क्षेत्र में चौकी प्रभारी शशिभूषण पाण्डेय तथा मुख्य आरक्षी मोहन चौधरी द्वारा समय लगभग 10.00 बजे प्रातः राजा मार्केट कस्बा बखिरा से अभियुक्त शशिभूषण यादव पुत्र चन्द्रशेखर यादव निवासी ग्राम महला थाना बखिरा जनपद संतकबीरनगर को गिरफ्तार किया गया जिसके द्वारा ठगी की दो घटनाओं तथा एक ठगी के प्रयास का पर्दाफाश हुआ ।
दिनांक 19.08.2018 को ग्राम असनहरा थाना खलीलाबाद में एक व्यक्ति द्वारा स्वंय को सरकारी कर्मचारी बताते हुये गांववालों से पैन कार्ड बनवाने के बहाने एक फर्जी फार्म भरवाया गया तथा गांव के तीन व्यक्तियों श्रीमती सुदामा देवी, बेचन यादव तथा श्रीमती सुनीता से स्कैनर पर उनके अंगूठे के निशान को स्कैन करा लिया गया । कुछ दिनों बाद श्रीमती सुदामा देवी तथा बेचन को पता चला कि उनके खाते से 10-10,000 रूपये निकाल लिये गये हैं । श्रीमती सुनीता के खाते में पैसा न होने के कारण उनसे ठगी नही की जा सकी । इस घटना के सम्बन्ध में थाना खलीलाबाद पर मु0अ0सं0 1050/18 धारा 419/420 भादवि पंजीकृत किया गया था जिसकी विवेचना के दौरान विवेचक श्री शशिभूषण पाण्डेय को जानकारी हुयी कि उपरोक्त ठगी यस बैंक कियोस्क (माइक्रो एटीएम) के जरिये की गयी है । इस माइक्रो एटीएम की आई डी ट्रेस करके अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया जिसके कब्जे से एक मोबाईल फोन तथा फिंगर प्रिण्ट स्कैनर डिवाईस बरामद हुये । अभियुक्त का मोबाईल यस बैंक से सूरज इण्टरप्राइजेस तहसील मेंहदावल पर रजिस्टर्ड था जिससे बैंक से जांच कराये जाने पर धोखाधडी करने की पुष्टि हुयी ।
अभियुक्त से पूछताछ पर अपना अपराध स्वीकार करते हुये उसके द्वारा बताया गया कि उसने यस बैंक से कियोस्क हेतु स्वय को रजिर्स्टड कराया था तथा कोई गांव का व्यक्ति अपने खाते से उसके माध्यम से पैसा निकालने आता था तो उसका आधार कार्ड नम्बर तथा खाते का विवरण लेकर अंगूठे का निशान स्कैन कर उसके खाते से पैसा निकालकर AEPS ( Aadhar Enabled Payment System ) के जरिए PAYNEARBY APP का प्रयोग करके पैसा इस वालेट में ट्रांसफर कर लेता था तथा आवेदक को भुगतान कर देता था ।
यही काम करते हुये उसने गांव के भोले भाले लोगों को ठगने की योजना बनाई तथा पूर्व नियोजित योजना के तहत अपने गांव से काफी दूर असनहरा गांव में आकर गांव की महिलाओं के बीच प्रचार किया कि वह सरकार की ओर से पैनकार्ड बनवाने भेजा गया है तथा एक फर्जी फार्म भरवाने के बाद उनके अंगूठे के निशान को स्कैन कर लिया तथा उनके बैंक की जानकारी कर उनके खाते से पैसा वालेट में ट्रांसफर कर लिया ।
अभियुक्त द्वारा पूर्व में यदि किसी के साथ ऐसी घटना की गयी है तो इस सम्बन्ध में अन्य थानों को सूचित कर तथा अभियुक्त के बैंक कियोस्क आई डी पर किये गये समस्त लेन देन के बारे में विस्तृत जानकारी की जा रही है ।
अभियुक्त की गिरफ्तारी से ठगी की और भी घटनाओं के अनावरण की संभावना है । पूरी टीम के उत्साहवर्धन हेतु पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर द्वारा पुरस्कार की घोषणा की गयी है ।
पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर द्वारा जनपद की जनता से अपील की गयी है कि यदि कोई भी व्यक्ति स्वंय को कोई सरकारी कर्मचारी/बैंक कर्मी/एनजीओ कर्मी आदि बताकर आपका आधार कार्ड नम्बर मांगता है तथा स्कैन मशीन पर अंगूठे का निशान स्कैन करने को कहता है तो कदापि उसके झांसे में न आयें तथा तत्काल पुलिस को 100 नम्बर पर सूचना दें । आधार कार्ड से लिंक खातों से इस प्रकार आसानी से ठगी से आपका पैसा निकाला जा सकता है ।

RB NEWS INDIA
For More Information You Can Contact us Call - +919425715025 For News And Advertising - +919926261372
https://rbnewsindiagroup.com