देश

ग्वालियर- संस्कार मंजरी का गुरु पूजन सम्पन्न

तन्वी भदौरिया✍️
*संस्कार मंजरी का गुरु पूजन संपन्न* ग्वालियर आज दिनांक 9जुलाई को
नागरिक उन्नयन के लिए समर्पित और समाज मैं सकारात्मक सोच के लिए कार्य करने वाली संस्था संस्कार मंजरी ने दी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए
गुरु पूर्णिमा के पावन पर्व पर गुरुओं का सम्मान किया
कोरोना महामारी के प्रभाव के कारण यह कार्यक्रम संस्कार मंजरी के संरक्षक श्री राधा किशन खेतान के निज निवास पर किया गया
मुख्य अतिथि श्रीमती समीक्षा गुप्ता ने कहा संस्कार मंजरी ने प्रति वर्ष की भांति इस वर्ष भी भले ही बिल्कुल छोटे स्वरूप में कार्यक्रम किया लेकिन अपनी परंपरा का निर्वाह किया और यही बात हमें प्रेरणा देती है कि हम कठिन काल में भी अपनी परंपराओं का भले ही छोटे रूप में लेकिन पालन करते रहें
संरक्षक राधाकिशन खेतान ने सभी का स्वागत किया
संस्थापक नीलम जगदीश गुप्ता और ऋतु भार्गव भी उपस्थित रही
श्रीमती राजरानी शर्मा
साहित्य सेवा के लिए समर्पित है उन्हें साहित्य साधना के लिए सम्मानित किया गया लेखक, चिंतक ,साहित्य के विविध आयामों में जिनकी एक अलग पहचान है
राजरानी शर्मा ने कहा
समाज के ऋणी हैं हम ! जीवन भर अपने कर्मों की ज्योति के द्वारा लोकऋण को उतारने का प्रयास होना चाहिये ! समाज में ज्ञान के पहरुए बन कर आना प्रभु कृपा से संभव हुआ ! समाज का ऋण है कि हमें सम्मान देता है इस ऋण को संस्कारों की रक्षा करके और परदुखकातरता की ज्योति जलाकर , परहित निरत रह कर चुकाने का प्रयास ही जीवन का दूसरा नाम है !
डॉक्टर किशन स्वरूप मंगल
सामाजिक क्षेत्र में एक जाना पहचाना नाम है संघ के स्वयंसेवक हैं भारत विकास परिषद में भी कहीं दायित्वों का आपने वर्षों तक बखूबी निर्वहन किया है डॉक्टर मंगल ने कहा कि यह सम्मान हमारा नहीं समाज में कार्य करने वाले सभी समाज सेवकों का सम्मान है
डॉक्टर महेश दत्त पांडे
संगीत के क्षेत्र में जाना पहचाना नाम महेश दत्त जी ने कहा कि संगीत आत्मा से परमात्मा के मिलन का एक अप्रतिम साधन है संगीत हमारे मन को शांति देने के लिए एक उत्तम कला है
फोटोग्राफी के क्षेत्र में राजेश लाड जी का सम्मान हुआ
राजेश जी ने अपने उद्बोधन में कहा कि मैं 26 वर्षों से फोटोग्राफी कर रहा हूं लेकिन ग्वालियर शहर में आज तक किसी ने फोटोग्राफी कला नहीं माना जबकि हमारा जीवन फोटोग्राफी के बिना अधूरा है हमारे जीवन के जो भी पल हम सहेज कर अपनी यादों के लिए रखना चाहते हैं वह फोटोग्राफ के रूप में ही आजीवन सुरक्षित रह ते हैं इसलिए इस कला का हमारे जीवन में महत्वपूर्ण योगदान है संस्कार मंजरी ने एक अनूठा अद्भुत प्रयोग फोटोग्राफी को भी कला मानकर मुझे जो सम्मान दिया है यह समाज में एक नया आयाम स्थापित करेगा ताकि और भी लोग फोटोग्राफरों को और उनकी फोटोग्राफी को एक व्यवसाय ना मानकर एक साधना भी माने क्योंकि फोटोग्राफी में भी बहुत निरंतरता संयम और साधना की आवश्यकता होती है
संचालन आलोक शर्मा जी ने किया । आभार
संयोजक श्रीमती वीणा जोशी ने किया

RB News india
Editor in chief - LS.TOMAR Mob- +919926261372 ,,,,,. CO-Editor - Mukesh bhadouriya Mob - +918109430445
http://rbnewsindiagroup.com